गोरखपुर:- आत्मविश्वास और मेहनत से यशी विश्वकर्मा बनी स्कूल टॉपर, अब डाक्टर बनने का है सपना ( रिपोर्ट:- सुनील चन्द कौशिक )

0
285

आत्मविश्वास और मेहनत से यशी विश्वकर्मा बनी स्कूल टॉपर, अब डाक्टर बनने का है सपना

रिपोर्ट:- सुनील चन्द कौशिक

पिता डॉ राम प्रताप विश्वकर्मा की प्रेरणा और अनुशासन को मानती है अपनी सफलता का मूल मंत्र

गोरखपुर। सीबीएसई बोर्ड की 12वीं की परीक्षा में कुसम्ही बाज़ार के रुद्रापुर गांव की यशी विश्वकर्मा ने आरपीएम एकेडमी रुद्रापुर से 93% अंक प्राप्त कर परिवार के साथ-साथ अपने क्षेत्र का भी नाम रोशन किया है।
यशी को फिजिकल एजुकेशन में 98, बायोलॉजी
में 95 , केमिस्ट्री में 90 , हिंदी में 94, फिजिक्स में 76, इंग्लिश में 88 अंक मिले है।
यशी ने बताया कि उसने कड़ी मेहनत की थी, जिसका फल इस सफलता के रूप में मिला है।उन्हें पूरा भरोसा था कि वो स्कूल टॉप जरूर करेगी ।और जब उनका नाम टॉपर्स की लिस्ट में आया तो सभी लोगों ने उसे ढ़ेरों बधाईयां दी। यशी ने अपनी सफलता का श्रेय अपनी फैमली और स्कूल के साथ-साथ अपनी कड़ी मेहनत को दिया है। आगे इसी तरह से पढ़ाई कर डाक्टर बन लोगों की सेवा करना चाहती हैं। इनके पिता डॉ राम प्रताप विश्वकर्मा चिकित्सा सेवा से जुड़े है जबकि माता श्रीमती रीना देवी गृहिणी हैं। अपनी इस सफलता का श्रेय स्कूल के गुरूजनों और माता पिता को दिया। लगन और लक्ष्य हो,तो कुछ भी हासिल किया जा सकता है।
यशी को किताबों का शौक है और वह पढ़ाई के लिए सबकुछ भूल जाती हैं। बताया कि उन्हें सिर्फ और सिर्फ पढ़ने का शौक है और किताबें ही उनकी दोस्त हैं। सोशल मीडिया और टेलीविजन से वह दूर ही रहती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here