गोला-गोरखपुर:- बारा नगर सरयूं नहर पर बनी पटरी कटी नहर से उमड़ा पानी  का रेला सैकड़ो एकड़ भूमि बना जलमग्न ( रिपोर्ट:- योगी अंगद सरण )

0
80

बारा नगर सरयूं नहर पर बनी पटरी कटी नहर से उमड़ा पानी  का रेला सैकड़ो एकड़ भूमि बना जलमग्न

रिपोर्ट:- योगी अंगद सरण

गोलाबाजार गोरखपुर:- गोला क्षेत्र में ग्राम बारा नगर सरयूं तट से निकली सरयूं नहर की मुख्य शाखा की दक्षिण वाली  पटरी को तहसील मुख्यालय गोला से एक फर्लांग उत्तर  ग्राम सभा अतरौरा मे मंगलवार की देर शाम अचानक पानी के बहाव   ने  तोड़ दिया ।जिससे  सैकड़ो एकड़ भूमि जलमग्न हो गया ।नहर के किनारे बसे लोगो का आना जाना दूभर हो गया ।ग्रामीणों ने नहर टूटने की सूचना नहर पंप के जे ई को दिया ।सूचना पाते ही चल रहे पंप को बंद करा दिया गया ।लेकिन पानी का बहाव अब भी जारी है।

बताते चले कि किसानों को हरियाली देने के लिए गोला तहसील मुख्यालय से 12 किमी पश्चिम  ग्राम बारां नगर सरयूं तट पर सरयूं कैनाल ढाई दशक पूर्व स्थापित की गई ।नहर में पानी आपूर्ति भी शुरू हुआ ।नहर के मुख्य शाखाओ का निर्माण होते समय ही जमीनी सतह बराबर न होने से आज तक नहर का पानी हेड से टेल तक नही पहुच पाया ।जिसकी शिकायत किसानों का नहर   बिभाग से बराबर होता रहा है ।बहर हाल जहाँ तक नहर में पानी पहुचता रहा वहां तक नहर के किनारे स्थित खेतो में किसान पानी का लाभ लेते रहे ।नहर का जमीनी सतह ठीक न होने से कही कही नहर में काफी  भराव होने लगा।भराव होने के कारण वहां के पटरियों की स्थित दयनीय बन गयी ।बिभाग द्वारा नहर में पड़े सिल्ट की सफाई तो करायी जाती रही लेकिन जर्जर पटरियों के मरम्मत की सुधि बिभाग द्वारा सज्ञान में  नही लिया गया।  जिसके कारण जगह जगह पर पानी के जमाव पर नहर टूट पड़ती है ।और किसानों की फसल बर्बाद हो जाती है ।मंगलवार की देर शाम नहर में पानी उफान पर था ।और अचानक तोड़ दिया ।जिससे अगल बगल बसे लोग पानी से घिर गए और सैकड़ो एकड़ भूमि जलमग्न बन गयी ।सूचना पर नहर बिभाग द्वारा पंप को बंद किया गया ।क्षेत्र के किसानों का कहना है कि यह खेल कब तक चलेगा । लोगो ने शासन व प्रशासन से मांग किया है  कि नहर  के पटरियों की बिधिवत मरम्मत करायी जाय।जिससे नहर की पटरियों को टूटने की  शिकायत दूर हो और साथ ही किसानों के खेतों तक सुगमता से नहर का पानी पहुच जाय।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here