पडरौना,कुशीनगर:- उधार का पैसा मांगने वाले दुकानदार के साथ बेटा को मारपीट कर फोड़ दिया था कपार,तोड दी थी हाथ,मामले में पुलिस की सही कार्रवाई नहीं होने से नाराज ( रिपोर्ट:- गोल्डन किशवाह )

0
812

कुशीनगर में उधार का पैसा मांगने वाले दुकानदार के साथ बेटा को मारपीट कर फोड़ दिया था कपार,तोड दी थी हाथ,मामले में पुलिस की सही कार्रवाई नहीं होने से नाराज

गोल्डेन कुशवाहा

पडरौना,कुशीनगर : कोतवाली पडरौना थाना क्षेत्र के जंगल जगदीशपुर गांव अनसार टोला में एक वर्ष पूर्व फर्नीचर व्यवसाई द्वारा उधार देने के मामले में अपना ही पैसा मांगने के एवज में पैसा देने वाले शख्स ने पहले तो पैसा देने की जगह दुकानदार को बुरी तरह से मारपीट कर घायल कर देने के मामले में पीड़ित दुकानदार के तहरीर पर दो वर्ष बाद मुकदमा दर्ज करने वाली पडरौना कोतवाली पुलिस ने हमलावरों को सिर्फ शांति भंग में चालान कर इतिश्री कर लिया । उधर पीड़ित दुकानदार ने मुझे मानव के खिलाफ की गई पुलिसिया कार्रवाई से संतुष्ट ना होने की दिशा में न्यायालय की शरण में जाने को मजबूर है ।

गौरतलब हो कि कोतवाली पडरौना थाना क्षेत्र के जंगल जगदीशपुर अंसार टोला निवासी आलम खान की शादी विवाह वैवाहिक कार्यक्रम में दी जाने वाली फर्नीचर से बनी बनाई सेठ की दुकान है। पीड़ित दुकानदार आलम खान का आरोप है कि गांव के ही आमिर हसन द्वारा गत 11 मांह पुर्व मेरे दुकान से फर्नीचर की लगभग 50 हजार की सामग्री ले गए थे,जिसमें 10 हजार नगद दिए जबकि 40 हजार उधार लगाए थे। इस सिलसिले में जब पीड़ित दुकानदार ने उक्त उधार ले जाने वाले अमीर हसन से पैसे की डिमांड की तो कई दिनों तक पैसा देने को लेकर टालमटोल करते रहे। इसी बीच उधार देने वाले शख्स ने उक्त दुकानदार से पैसा देने के लिए दुकान के ही बगल में बुलाया था। इस दौरान जब पैसा लेने उक्त दुकानदार गया तो पहले उधार ले जाने वाले अमीर हसन के लड़के ने पैसा ना देने की धमकी देते हुए गाली गुप्ता देने लगे । हालांकि पीड़ित दुकानदार इसका विरोध करते हुए अभी कुछ समझते कि अचानक उधार लेने वाले ब्यक्त के दो लड़के हाथ में बांस का टुकड़ा व डंडे से वार कर दिए, जिससे वह जमीन पर ही लहूलुहान होकर गिर गया पीड़ित दुकानदार के चीखने चिल्लाने की आवाज सुनकर मौके पर अपने पिता को बीच-बचाव करने आए दुकानदार के बेटे मेराज खान खान को भी बुरी तरह से मारपीट कर घायल कर दिया । इस दौरान पीड़ित दुकानदार के साथ उनके बेटे के सर व हाथ में काफी गंभीर चोटे आई, ऐसे में एक दूसरे के बीच होते मारपीट को देख अगल-बगल से जुड़े लोगों ने जैसे तैसे हो रहे झगड़े को छुड़ा दिया था। इस सिलसिले में पीड़ित दुकानदार ने घटना के अगले दिन कोतवाली पडरौना पुलिस को हमलावरों के खिलाफ नामजद तहरीर देकर कार्रवाई करने की मांग की थी। तहरीर मिलने के 2 माह बाद कोतवाली पुलिस ने उक्त हमलावरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उक्त लोगो के खिलाफ केवल शांति भंग में चालान किए जाने से नाराज अब पीड़ित दुकानदार के साथ उनका बेटा कोतवाली पडरौना द्वारा की गई पुलिसिया कार्रवाई से खफा होकर अब न्यायालय की शरण लेकर कार्रवाई कराने को मजबूर है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here