वाराणसी:- सीजीएम कोर्ट ने स्वीकार की यूनिटेक के एमडी संजय चंद्रा और अजय चंद्रा के प्रार्थनापत्र को, वाराणसी के अधिवक्ता वरूण प्रताप सिंह ने दिया था तर्क ( रिपोर्ट:- राजेश यादव )

0
299

सीजीएम कोर्ट ने स्वीकार की यूनिटेक के एमडी संजय चंद्रा और अजय चंद्रा के प्रार्थनापत्र को, वाराणसी के अधिवक्ता वरूण प्रताप सिंह ने दिया था तर्क

रिपोर्ट राजेश कुमार यादव

वाराणसी:- धोखाधड़ी और आपराधिक साजिश रचने के आरोप में तिहाड़ जेल में निरुद्ध यूनिटेक के प्रबंध निदेशक संजय चंद्रा और अजय चंद्रा की सीजीएम (प्रथम) दिवाकर कुमार की अदालत ने प्रार्थीगण द्वारा प्रस्तुत प्रार्थनापत्र को स्वीकार कर लिया है। सोमवार को न्यायालय मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के माध्यम से सुना गया।

आरोपित संजय चंद्रा और अजय चंद्रा की ओर से जरिये अधिवक्ता वरूण प्रताप सिंह प्रार्थनापत्र दिनांकित 12 जून 2020 इस आशय का प्रस्तुत किया गया है कि इनके विरूद्ध जारी प्रोडक्शन वारण्ट को खारिज किया जाय। आधार यह लिया गया है कि माननीय उच्चतम् न्यायालय द्वारा दिनांक 9 अप्रैल 2018, 30 अक्टूबर 2017 एवं 20 नवम्बर 2027 की छायाप्रति न्यायालय के समक्ष दाखिल की गई तथा माननीय उच्चतम् न्यायालय द्वारा Suo Moto Writ Petition 01/2020 Date 23/3/2020 का उल्लेख किया गया है।

*मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने स्वीकार करने का दिया आदेश*
सीजीएम दिवाकर कुमार की अदालत ने उपरोक्त समस्त तथ्यों एवं प्रपत्रों को दृष्टिगत रखते हुए यह स्पष्ट है कि माननीय उच्चतम् न्यायालय द्वारा स्पेशल लीव 2 अपील के आदेश प्रश्नगत् प्रकरण से संबंधित नहीं है और उसमें कोई भी उत्पीड़क कार्यवाही करनें से मना किया गया है। कोर्ट ने उसको देखते हुए अंत आरोपित चंद्रा द्वारा प्रस्तुत प्रार्थना पत्र दिनांक 12 जून 2020 को स्वीकार किए जाने का आदेश दिया। कोर्ट ने आदेश दिया कि माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अनुपालन में अभियुक्त के विरुद्ध निर्गत “वारंट बी” यदि कोई लंबित हो, अविलंब बिना अनुपालन वापस मगाया जाए। संबंधित थाने के पैरोकार अनुपालन हेतु नोट करें। पत्रावली नियम दिनांक को पेश हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here