संतकबीरनगर:- गरीबो के उत्थान के लिए जीवन पर्यन्त प्रयास करते रहेंगे – डा० उदय प्रताप चतुर्वेदी ( रिपोर्ट:- विजय गुप्ता )

0
115

गरीबो के उत्थान के लिए जीवन पर्यन्त प्रयास करते रहेंगे – डा० उदय प्रताप चतुर्वेदी

रिपोर्ट:- विजय गुप्ता

संत कबीर नगर:- जिले मे बर्षों से तमाम सरकारों ने गरीबों को पक्का मकान देने के नाम पर करोडों अरबों के भारी भरकम बजट को खपत कर डाला। इन दावों के सहारे तमाम कथित सियासी सितारे आज भी राज करते नजर आते हैं। सवाल यह है कि समानता, भाईचारा, समाजवाद और सबका साथ सबका विकास का नारा देने वाले सियासी सौदागरों की निगाहें आखिर नाथनगर ब्लाक के चन्दापार निवासी दिलीप मिश्रा के उस जर्जर एवं बदहाल आशियाने पर क्यों नही पड़ी जिसे देख मानवता और सामाजिकता भी शरमा जाए? जी हां जीवन भर समाज को प्रभू भक्ति का मंत्र पढ़ाने मे डूबे दिलीप मिश्रा और उनके परिवार के दर्द को किसी ने नही महसूस किया। जिले के संवेदनशील सामाजिक शख्सियत एवं संतकबीर सेवा समिति के अध्यक्ष राजू रंजन यादव ने जब भारी बारिश मे टाट पट्टियों से टपकते पानी की बूंदों से खुद को बचाने मे जुटे दिलीप मिश्रा के परिवार का सच शोषल साइटों पर उकेरा तो जिले के सामाजिक संरचना के अग्रदूत डा उदय प्रताप चतुर्वेदी का दिल द्रवित हो उठा। गुरूवार को अपने निकट सहयोगी एवं बसपा के वरिष्ठ नेता नित्यानंद यादव के साथ चन्दापार गांव पहुंचे। दिलीप मिश्रा के घर पहुंचा सूर्या के मैनेजिंग डायरेक्टर डा उदय प्रताप चतुर्वेदी का जत्था हालात देख दुखी हो उठा। हर कोई सिस्टम से लगायत जिम्मेदारों को कोसता नजर आया। डा चतुर्वेदी ने अपनी तरफ से इस परिवार को घर बनाने के लिए छः हजार ईंट, दो ट्राली बालू और बीस हजार रूपये का नकद सहयोग प्रदान करते हुए जरूरत पड़ने पर और सहयोग करने का वचन भी दिया। इसके साथ ही परिवार के सभी सदस्यों को वस्त्र, राशन और घर खर्च के लिए नकदी भी प्रदान किया। इस सहयोग से अभिभूत दिलीप मिश्रा के परिजनों की आंखें छलक उठीं तो ग्रामीण भी डा चतुर्वेदी की दरियादिली को देख मंत्र मुग्ध नजर आए। बाद मे डा चतुर्वेदी ने कढुई निवासी विधवा लक्ष्मीना के बेटी के बरछा कार्यक्रम के लिए भी नकद सहयोग किया। डा चतुर्वेदी ने कहा कि गरीबी, बेबसी और लाचारी का उन्मूलन करते हुए उनके उत्थान के लिए जीवन पर्यन्त प्रयास करते रहेंगे। उन्होंने जिम्मेदारों को भी चेताया कि ऐसे ही निरीह और मजबूर लोगों के लिए ही योजनाएं होती हैं। अगर संबंधित अधिकारी और जन प्रतिनिधि ऐसे लोगों की मदद से ही कतरायेगा तो आने वाली नस्लें उन्हें माफ नही करेंगी। इस दौरान दानिश खान, बलराम यादव, अभयनन्द सिंह, अजय मिश्रा, रत्नेश मिश्रा, यादवेश यादव उर्फ झाले प्रधान, रविन्द्र यादव, अंगद यादव, धर्मेन्द्र यादव, मसलहूद्दीन, सुखई नाई सहित दर्जनों लोग मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here