संतकबीरनगर:- प्रशासन की लापरवाही मगहर को पड़ सकता है भारी ( रिपोर्ट:- सत्य प्रकाश )

0
196

प्रशासन की लापरवाही मगहर को पड़ सकता है भारी

रिपोर्ट:- सत्य प्रकाश

संत कबीर नगर।खलीलाबाद कोतवाली क्षेत्र के मगहर चौकी के निकट एक विवादित भूमि को लेकर दो पक्ष अपनी अपनी दबंगई के बल कब्जा करना चाह रहें है lभूमि के चहारदीवारी के निर्माण को लेकर दो पक्ष आमने सामने आ गए। जिनमें एक पक्ष जबरिया व अपने रसूख के बल पर कब्जा करना चाह रहा है तो दूसरा पक्ष इसे रोकने के लिए जोर लगा रहा है।इस तरह कस्बे में तमाम विवादित भूमि पर कब्जे को लेकर आये दिन विवाद होता रहता है जिसे स्थानीय कुछ छोट भईया नेताओं के द्वारा पुलिस के माध्यम से सुलह समझौता कराते हैं।समय रहते प्रशासन नहीं चेता तो सोनभद्र की तरह मगहर में घटित होने से इंकार नहीं किया जा सकता है।इसके बावजूद बहुत कम मामलोशान्त कार्य में सैकड़ों मजदूर लगा कर सोशल डिस्टेंसिग की धज्जियां उड़ाई जा रही है।
मगहर पुलिस चौकी के नाक के नीचे एक विवादित भूमि को लेकर शनिवार को दो पक्ष अपने दल बल के साथ आमने सामने हो गए।दोनो पक्ष जमीन की चहारदीवारी के निर्माण करने के लिए सैकडों मजदूरों व मिस्त्री के साथ मौके पर पहुंच गए।उसके बाद देखते देखते वहां पर भीड़ एकत्रित हो गई।मामले की नजाकत को भांप एक पक्ष ने डायल 112 को सूचित कर दिया।उसके बाद डायल112 एवं स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची।पुलिस को देख वहां भगदड़ मंच गई।जिसमें छोट भईया नेता भी भाग कर अपने को सुरक्षित करने में सफल रहे।बात यहीं पर थमी नहीं भूमि की चहारदीवारी कर कब्जा करने के लिए दोनो पक्ष उतारू है। गौरतलब है कि नगर पंचायत मगहर पुलिस चौकी के दक्षिण स्थित ईदगाह के निकट आराजी नम्बर 778 क ख ग हैा जो लगभग 14 बीघे का रकबा है।जमीनी कारोबारियों की माने तो कस्बे के मेन रोड पर स्थित इस कीमती जमीन पर अधिक से अधिक कब्जा करने की होङ लगी है। जिस पर कब्जे को लेकर लगभग आठ माह पहले जिले के प्रभावशाली नेता और ईदगाह के सरपस्त के बीच जोर आजमाईस हो चुकी है।जिसे लेकर मुकदमा भी दर्ज हुआ और उसके बाद समझौता भी हो गया।उसी भूमि पर दोनों पक्ष मिलकर कब्जा करना चाह रहे है। शनिवार भूमि पर कब्जा करने को लेकर निर्माण कार्य के लिए सैकड़ों की संख्या में मजदूर काम करने के लिए पहुंचे। जो काम अभी शुरू करते इससे पहले अन्य काश्तकार व खातेदार भी मौके पर पहुंच गये और काम रोकने व चालू करने को लेकर विवाद खड़ा हो गया। जिससे भारी भी भीङ इकठ्ठा हो गई और सोशल डिस्टेसिंग की धज्जियां उङने लगी। पुलिस भनक लगते है ही मौके पर पहुंच कर लाठी चार्ज कर दिया। जिससे मौके पर अफरा तफरी मच गई। भीड़ तितर बितर हो गई।पुलिस के हल्के बल प्रयोग के एक घंटा बाद फिर एक पक्ष ने निर्माण कार्य कराना शुरू किया। जिसे दोबारा पुलिस ने शांति व्यावस्था बनायें रखने के लिए रोकवा दिया। लेकिन निर्माण कार्य के लिए आये मजदूर आस-पास ही मडरा रहें है।मजदूरों की हर सुविधा के लिए सारी व्यावस्था रही।जिसे लेकर दो पक्ष कभी भी आमने सामने हो सकते है। जिसमें खुनी संघर्ष भी होने से इनकार नही किया जा सकता है। इस मामले में प्रशासन की थोड़ी सी लापरवाही भारी पङ सकती है।इसी तरह कस्बे में जमीनी विवाद में मो. याकूब नामक व्यक्ति की हत्या हो चुकी है।कहीं याकुब की घटना की पुनरावृत न हो जाय इसे लेकर कस्बा वासी सशंकित हैं। इस बारें में कोतवाली प्रभारी निरीक्षक गौरव सिंह ने बताया कि दोनों पक्ष में सुलह समझौता हो गया है। रहा सवाल सोशल डिस्टेसिंग का तो इसका पालन कड़ाई से पालन कराया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here