संतकबीरनगरःन्यायालय ने दिया डकैती व लूटपाट के मामले में मुकदमा दर्ज करने का आदेश ( रिपोर्ट : विजय गुप्ता )

0
188

न्यायालय ने दिया डकैती व लूटपाट के मामले में मुकदमा दर्ज करने का आदेश
*- बेलघाट कस्बे में गोलबन्द विपक्षियों ने डाली थी डकैती, की थी तोड़फोड़*
*- युवा अग्रहरि समाज(रजि.) के प्रदेश अध्यक्ष श्रवण अग्रहरि का प्रयास लाया रंग*
*- अधिवक्ता इरशाद अहमद बेग ने के प्रयासों से हुआ मुकदमा दर्ज करने का आदेश*
गोरखपुर।
*गोरखपुर जनपद के बेलघाट कस्बे में गत 1 जून 2021 को गोलबन्द दबंगों के द्वारा की गई डकैती के मामले में न्यायालय अपर सिविल जज जूनियर डिवीजन ने थानाध्यक्ष बेलघाट को आरोपितों के उपर मुकदमा दर्ज करके आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। इस मामले में युवा अग्रहरि समाज(रजि.) के प्रदेश अध्यक्ष श्रवण कुमार अग्रहरि के द्वारा लगातार किए गए प्रयासों व अधिवक्ता इरशाद अहमद बेग ने दमदार पैरवी करके साक्ष्य प्रस्तुत किए। जिसके बाद यह मुकदमा दर्ज करने का आदेश हुआ है।*
*बताया जाता है कि 31 मई की रात में बेलघाट निवासी संजय पुत्र धुरई बेलदार की किसी से कुछ लोगों का विवाद हुआ था और इस दौरान उसकी मौत हो गई। इस मामले में संजय के भाई रंजय ने रमेश अग्रहरि पुत्र यज्ञ प्रसाद के पुत्र के ऊपर भी हत्या का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया। इस मामले में रमेश अग्रहरि ने मुकामी थाने पर यह तहरीर दी कि 1 जून की दोपहर में रंजय पुत्र धुरई ने अपने सहयोगियों बेलघाट थानाक्षेत्र के पिपरसंडी निवासी विशाल बेलदार पुत्र उमेश बेलदर तथा बेलघाट कस्बे के निवासी धुरई बेलदार पुत्र मंगल बेलदार, विशाल बेलदार पुत्र लक्ष्मण, चन्दन पुत्र रामजी, रवीन्द्र पुत्र रामजीत, दीपक पुत्र भालचन्द, भोलू पुत्र राजाराम, बटखर बेलदार पुत्र दिलवर बेलदार, कुलदीप बेलदार पुत्र रामस्वरुप बेलदार, हीरालाल पुत्र परमेश्वर, वीरेन्द्र बेलदार पुत्र अज्ञात तथा उसी थानाक्षेत्र के चक्का बेलघाट के निवासी उमेश पुत्र अज्ञात तथा अन्य कई लोग आए। घातक हथियारों से लैस इन लोगों ने दिनदहाड़े रमेश के घर में उत्पात मचाना शुरु कर दिया और डकैती करने लगे। इस दौरान इन लोगों ने तीन लाख रुपया, पत्नी तथा बेटियों के पुराने जेवर, एलईडी टीवी, एसी, वाशिंग मशीन, दो कूलर, हीरो डीलक्स मोटरसाइकिल तथा अन्य सामान लेकर चले गए। घर में इस्तेमाल करने लायक कोई सामान नहीं छोड़ा। इस दौरान रमेश अपने परिजनों के साथ घर के ही एक हिस्से में छिपे हुए थे। आरोपितों ने जमकर ताण्डव मचाया लेकिन वे उन तक नहीं पहुंच सके।*
*इसके बाद से ही रमेश अग्रहरि आरोपितों के भय से अपने घर से पलायन कर गए । इसके बाद 24 जून का युवा अगहरि समाज के प्रदेश अध्यक्ष श्रवण कुमार अग्रहरी की अगुवाई में एक शिष्टमंडल वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी आईपीएस गोरखपुर तथा पुलिस अधीक्षक गोरखपुर दक्षिणी अरुण कुमार सिंह आईपीएस से मिला तथा उनसे मिलकर पूरी घटना उनके संज्ञान लाते हुए मांग किया गया कि इस घटना में सम्मिलित सभी लोगों के खिलाफ डकैती का मुकदमा दर्ज कर कठोर कार्रवाई कराई जाए तथा रमेश अग्रहरि के परिवार को पूर्ण सुरक्षा प्रदान करते हुए उनको उनके घर पर स्थापित कराया जाए। जिस पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा आवश्यक कार्रवाई हेतु डीएसपी गोला बाजार अंजनी पाण्डेय को तत्काल निर्देशित किया गया तथा प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त किया गया कि पीड़ित परिवार को पूर्ण सुरक्षा उपलब्ध कराई जाएगी और घटना में संलिप्त सभी लोगों के विरुद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कर कठोर कार्रवाई की जाएगी।*
*इसके बावजूद मुकदमा दर्ज नहीं हुआ तो अधिवक्ता इरशाद अहमद बेग के जरिए न्यायालय में मुकदमा दर्ज कराने के लिए आवेदन पत्र दिया गया। इस आवेदन पर विचार करने के बाद न्यायालय अपर सिविल जज जूनियर डिवीजन ने थानाध्यक्ष बेलघाट को आरोपितों के उपर मुकदमा दर्ज करके आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।*

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here