संतकबीरनगर :उ.प्र. अग्रहरि समाज की प्रदेश कार्यकारिणी भंग – श्रवण अग्रहरि ( रिपोर्ट : विजय गुप्ता )

0
176

उ.प्र. अग्रहरि समाज की प्रदेश कार्यकारिणी भंग – श्रवण अग्रहरि

संत कबीर नगर
अग्रहरि समाज के महा मंत्री पद के पूर्व प्रत्याशी श्रवण अग्रहरि ने मंगलवार को बताया कि
उत्तर प्रदेश अग्रहरि समाज की प्रांतीय कार्यकारिणी को संरक्षकों ने प्रदेश अध्यक्ष रमेश अग्रहरि के मनमाने रवैए तथा संविधान विरुद्ध कार्य करने के कारण व सामाजिक कार्यों में लगातार संगठनात्मक निष्क्रियता के कारण भंग का करने का आदेश पारित किया।संरक्षक उमाशंकर अग्रहरि का कहना है कि 18 दिसंबर सन 2016 में कार्यकारिणी का गठन किया गया 1था।जिसका कार्यकाल 17 दिसंबर सन 2019 को पूर्ण हो चुका था।संस्था के संविधान की धाराओं के अंतर्गत प्रत्येक तीन वर्ष पर कार्यकारिणी का चुनाव करवाना अनिवार्य है।जिसका पालन वर्तमान कार्यकारिणी द्वारा नहीं किया गया।वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष रमेश चंद्र अग्रहरि ने कई नियमों की अवहेलना की।साथ ही मनमाना रवैया अपनाते हुए किसी प्रकार की सूचना संरक्षकों को नहीं दी। तथा अपने राजनैतिक स्वार्थ के कारण कार्यकाल पूर्ण हो जाने के बावजूद समाज का चुनाव न करा कर समाज को गुमराह कर पद पर लगातार बने रहने का खड़यंत्र कर रहे हैं जिसको लेकर संरक्षको द्वारा कई बार चेतावनी दिया गया उसके बावजूद कोई सकारात्मक कार्रवाई न करने के कारण अग्रहरि समाज के संविधान द्वारा प्रदत्त अधिकारों का प्रयोग करते हुए दो तिहाई बहुमत के आधार पर संस्था के दो संरक्षकों राज कपूर अग्रहरि, उमाशंकर अग्रहरि, ने वर्तमान कार्यकारिणी को संविधानविरुद्ध कार्य करने व निष्क्रियता के कारण भंग करने का निर्णय लिया है।उक्त जानकारी देते हुए पूर्व प्रांतीय महामंत्री पद के प्रत्याशी श्रवण कुमार अग्रहरि ने कहा की प्रांतीय अध्यक्ष रमेश चंद्र अग्रहरि के मनमाने रवैए से नौजवानों में लगातार निराशा व्याप्त हो रही थी तथा उन्हें हतोत्साहित किया जा रहा था प्रांतीय संरक्षक गण द्वारा लिया गया नीतिगत निर्णय सराहनीय है तथा स्वागत है इससे शीघ्र ही उत्तर प्रदेश अग्रहरि समाज के नई प्रन्तीय कार्यकारिणी के गठन का मार्ग प्रशस्त होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here